Total Pageviews

Monday, November 17, 2008

क्या है बस्तर की अभिव्यक्ति ?

क्या है बस्तर की अभिव्यक्ति ?
इसका एक ज़वाब तो यह है कि बस्तर में एक छोटा सा गाँव है ......जहाँ के कुछ लोगों नें मिलकर एक संस्था बनायी है......और उसका नाम रखा - "अभिव्यक्ति"। यह ब्लॉग इस संस्था की गतिविधियों, विचारों और अपने सरोकारों को अभिव्यक्त करने का ज़रिया बनेगा ।

बरसों से बस्तर एक जंगली पेड़ की तरह फल-फूल रहा था ....अपने आप में मस्त। अचानक उस पर गणमान्य लोगों की नज़र पड़ गयी। वे तुल गए... बस्तर का विकास करने पर। उनकी देखा-देखी कुछ और समाज सेवक भी कूद पड़े। वे बस्तर का और भी विकास करने लगे। बेचारा बस्तर हक्का-बक्का देखता ही रह गया।

कुछ लोग विकास का फ़ॉर्मूला ईज़ाद करने लगे,..... ज़ो सहमत नहीं थे वे बारूदी सुरंगें फोड़कर आतिशवाजी का आनंद लेने लगे। कीचड़ की होली खेली जाने लगी। अजीब मंज़र है, कोई समझ ही नहीं पा रहा बस्तर को कि वह तो सलवा जुड़ुम के जुलूस में शामिल लंगोटीधारी गोंड की तरह है। शामिल न हो तो घुड़की ...और शामिल हो तो धमकी।

इस ब्लॉग के ज़रिये छत्तीसगढ़ या जगदलपुर के बजाय हम बस्तर की नब्ज़ पकड़ने की कोशिश करेंगे। देश-दुनिया की बातें भी करेंगे। बहरहाल इस ब्लॉग का कोई फ़िक्स एजेंडा नहीं है ....ज़ो मन में आया सो लिखेंगे।


7 comments:

  1. शुभकामनाओं के साथ स्वागत है आपका हिंदी ब्लॉगजगत पर।

    ReplyDelete
  2. मेरी शुभकामनाऍ.ऐसे ही हमलोग मिलते रहेंगे.

    ReplyDelete
  3. इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका हिन्‍दी चिटठा जगत में स्‍वागत है। आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को मजबूत बनाएंगे। हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

    ReplyDelete
  4. चिट्ठा जगत में आपका स्वागत है ।
    भावों की अभिव्यक्ति मन को सुकुन पहुंचाती है ।
    लिखते रहिए लिखने वालों की मंज़िल यही है ।
    कविता,गज़ल,शेर आदि के लिए मेरे ब्लोग पर स्वागत है ।
    मेरे द्वारा संपादित पारिवारिक पत्रिका भी देखें
    www.zindagilive.blogspot.com

    ReplyDelete
  5. टिप्‍पणी देने के लिए आप सभी का धन्‍यवाद।

    संगीता जी, आपने अपनी संपादित पत्रिका का जो लिंक दिया है। उसमें कोई सामग्री मौजूद नहीं है। लगता है कहीं लिंक देने में त्रुटि हो गई है। कृपया सही लिंक दीजिए।

    ReplyDelete